July 13, 2024
Ghazal/Shayri/Poetry

दुनियादारी

Jun 30, 2024

जिंदगी ने इतना तो सिखाया हैं, कौन अपना और पराया हैं।

बिना मतलब कोई किसी का नहीं यहां, मैने हर रिश्ते को अजमाया हैं।।

Previous Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *